SCO सम्मेलन: भारत-पाक रिश्तों में तल्खी, मोदी ने इमरान को किया नजरअंदाज

शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गनाइजेशन समिट में भारत और पाकिस्तान के बीच रिश्तों में तल्खी देखने को मिली।  बिश्केक में किर्गिस्तान के राष्ट्रपति की तरफ से भोज दिया गया था, इस दौरान भी दोनों नेताओं के बीच कोई संपर्क नहीं हुआ। डिनर के मोदी व पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के बीच सिर्फ तीन कुर्सियों का अंतर होने के बावजूद दोनों के बीच कोई बातचीत नही हुई।  पीएम मोदी और इमरान खान ने बाकी सारे राष्ट्र प्रमुखों से मिलाया हाथ, लेकिन आपस में कोई दुआ सलाम तक नहीं हुई।

मोदी ने जिंनपिंग से अलग से बातचीत में कहा, भारत चाहता है कि पाकिस्तान आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम उठाए, ताकि वार्ता दोबारा शुरू करने के लिए आतंक-मुक्त मोहौल बने। भारत ने साफ कह दिया है कि जब तक सीमा पार से आतंकवाद पर लगाम नहीं लगती, दोनों देशों के बीच कोई वार्ता नहीं होगी।

किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक में  जिंपिंग-मोदी वार्ता के बारे में जानकारी देते हुए विदेश सचिव विजय गोखले ने जानकारी देते हुए बताया कि, पीएम मोदी ने चीन में कहा कि उन्होंने पाकिस्तान से संबंध सुधारने के कई प्रयास किए, लेकिन इन कोशिशों को पाक ने पटरी से उतार दिया। पाक की तरफ से आतंकवाद के खिलाफ ठोस कदम फिलहाल नजर नहीं आ रहे है।

बता दें की पिछले साल चीन में हुई एससीओ बैठक के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने तत्कालीन पाकिस्तानी राष्ट्रपति मममून हुसैन से हाथ मिलाया था और दोनों ने एक दूसरे का हालचाल भी पूछा था।