पाक ने मोदी के लिए खोला हवाई रास्ता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए पाकिस्तान अपना एयरस्पेस खोलने को तैयार हो गया है. पीएम मोदी किर्गिस्तान के बिश्केक में होने जा रहे संघाई कोऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (SCO) शिखर सम्मेलन में शिरकत करने 13 जून को जा रहे हैं. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पीएम मोदी को अपना एयर स्पेस इस्तेमाल करने देने पर पाकिस्तान सैद्धांतिक तौर पर राजी हो गया है. वैसे तो दोनों देश आम जनता को ये दिखाने की कोशिश कर रहे हैं की दोनों एक दुसरे के प्रति सख्त हैं, परन्तु बात चाहे मोदी के पकिस्तान जाकर बधाई देने की हो या फिर पकिस्तान का बार-बार हवाई रास्ता खोलने की, साफ़ दिखाता है की ये सब बस ड्रामा है. हमारे प्रधानमंत्री जी थोडा घूमकर भी जा सकते थे, परन्तु उन्हें समस्या नहीं हो इसलिए देश की तथाकथित स्वाभिमानी मोदी सरकार ने पकिस्तान से आग्रह किया.

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद बंद किए थे हवाई रास्ते

बता दें कि 26 फरवरी को बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपना एयरस्पेस पूरी तरह से बंद कर दिया था. इस घटना को 3 महीने से ज्यादा गुजर गए हैं, लेकिन पाकिस्तान ने अबतक मात्र अपने दो एयरस्पेस ही खोले हैं. ये दोनों एयर स्पेस दक्षिण पाकिस्तान से होकर गुजरते हैं. पाकिस्तान ने अपने हवाई क्षेत्र को कुल 11 भाग में बांट रखा है. भारत की इस एयर स्ट्राइक की पूरी दुनिया ने सराहना की थी, और पाकिस्तान पूरी तरह से बैकफुट पर आ गया था.

भारत ने बंद किया था व्यापार

पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के साथ व्यापार पूरी तरह से बंद कर दिया था, परन्तु कहते हैं की नेता सिर्फ नेता होता है, इंसानियत और नैतिकता से दूर रहना ही उसे पसंद होता है, सिर्फ चुनावों तक ये रोक लगी थी. अब व्यापार पहले की तरह ही चल रहा है. हालाकि सरकार ने मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा जरुर छिना था, परन्तु उससे वहाँ की जनता और यहाँ की जनता को ज्यादा नुकसान हुआ, इन नेताओं के आपसी रिश्तों में अभी भी पहले जैसी गर्मजोशी बनी हुई है. जो सत्ता में आने से पहले कहते थे की पकिस्तान से कोई बातचीत नहीं होगी, वो सत्ता में आने के बाद बिना बुलाए भी घर जाकर गले मिलते हैं, वहीं पाकिस्तानी प्रधानमंत्री का भी यही हाल है.

भारत ने पकिस्तान से किया था आग्रह

भारत ने पाकिस्तान से आग्रह किया था कि वो नरेंद्र मोदी के बिश्केक दौरे के लिए अपने एयर स्पेस के इस्तेमाल की इजाजत दे. एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी पीटीआई को इस बात की पुष्टि की है कि पाकिस्तान सैद्धांतिक तौर पर इसके लिए तैयार हो गया है. बता दें कि इससे पहले तत्कालीन विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के लिए भी पाकिस्तान ने अपना एयर स्पेस खोला था. सुषमा स्वराज हो या अब मोदी जी दोनों ही देश के स्वाभिमान के साथ और जनता की भावनाओं को ठेस पहुंचा रहे हैं. दोनों देश की सेना और जनता के बीच इतना तनाव है और इन मतलबी नेताओं को अपने सुविधा की फ़िक्र है.

पाकिस्तान के एक अधिकारी ने बताया, “कुछ औपचारिकताएं पूरी करने के बाद भारत सरकार को इसकी जानकारी दे दी जाएगी, इसके बाद सिविल एविएशन अथॉरिटी को भी निर्देश दे दिया जाएगा. इस अधिकारी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत भी पाकिस्तान के शांति प्रयासों का सकारात्मक जवाब देगा.

बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुछ ही दिन पहले पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखी है और दोनों देशों के बीच कश्मीर समेत सारे राजनीतिक मुद्दों को सुलझाने की पेशकश की है. हालांकि भारत ने इस पेशकश का अबतक जवाब नहीं दिया है. भारत शुरू से कहता रहा है कि पाकिस्तान पहले आतंकी संगठनों पर कार्रवाई करे इसके बाद ही किसी भी मुद्दे पर बातचीत हो सकती है.