ICC ने उठाया ये बड़ा कदम, हर टीम के साथ होगा एंटी-करप्शन ऑफिसर

30 मई से इंग्लैंड और वेल्स में वर्ल्ड कप 2019 का आयोजन होना है. इसके लिए 10 टीमें जमकर मेहनत कर रही हैं. वहीं, इंटरनेशन क्रिकेट काउंसिल यानी आइसीसी भी क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट को सफल बनाने के लिए एक के बाद एक तमाम फैसले ले रही है, जिससे कि वर्ल्ड कप एकदम ट्रांसपेरेंट हो. इसी कड़ी में ICC ने एक और कड़ा कदम उठाया है. कई बार वर्ल्ड कप और बड़े टूर्नामेंट फिक्सिंग के शिकार हो चुके हैं. कभी-कभी गलत इलज़ाम भी लगे हैं. ICC इस बार ऐसा कुछ भी नहीं होने देना चाहता है. वर्ल्ड कप शुरू होने में अब बस 16 दिन बाकी है.

टीम के साथ होगा एंटी-करप्शन ऑफिसर

दरअसल, आइसीसी ने इस बार हर एक टीम के लिए एक एंटी-करप्शन ऑफिसर को साथ रखने का एलान किया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक, आइसीसी ने भ्रष्टाचार निरोधक अधिकारी को टीम के साथ इसलिए रखने का मन बनाया है क्योंकि टूर्नामेंट फिक्सिंग और भ्रष्टाचार से मुक्त हो. आइसीसी खुद एंटी-करप्शन ऑफिसर की नियुक्ति करेगी, जो टीम के साथ रहेंगे. वर्ल्ड कप के वार्मअप मैच से और आखिर तक एंटी-करप्शन यूनिट का एक ऑफिसर हर एक टीम के साथ रहेगा.  इससे पहले आइसीसी ने एंटी-करप्शन यूनिट को हर एक वेन्यू के लिए चुना था, जो अब टीम के साथ भी रहेंगे. एंटी-करप्शन ऑफिसर उसी होटल में ठहरेगा जहां टीम होगी. टीम के साथ-साथ एंटी-करप्शन ऑफिसर मैच और ट्रेनिंग सेशन के लिए जाएगा. टीम और खिलाडियों के साथ पल-पल की खबर रखेगा ये ऑफिसर.

पारदर्शिता लाना है मक़सद

आइसीसी का टीम के साथ एंटी-करप्शन ऑफिसर रखने के उद्देश्य ये है कि एक तो वर्ल्ड कप एकदम पारदर्शिता वाला हो. दूसरा ये कि टीम के खिलाड़ियों और एंटी-करप्शन यूनिट के बीच रिश्ता अच्छा हो. पूरे टूर्नामेंट के दौरान एंटी-करप्शन ऑफिसर रखने के मायने इसलिए भी है कि अगर कोई संदिग्ध उनसे मिलने की कोशिश करता है तो उस पर भी नज़र रखी जा सके. अक्सर अनजान लोग लोग टीम से मिलने की कोशिश करते रहते हैं. इसके अलावा टीम और टीम का कोई खिलाड़ी भी ऐसी कोशिश ना करे, इसलिए ICC ने ये कदम उठाया है. सभी क्रिकेट प्रेमियों को ये पता होगा की उनकी टीम और उनके चहेते खिलाड़ी कब और कहाँ है. अगर किसी तरह का कोई मामला आता भी है तो ऐसे वक़्त में सबको पता होगा की सच क्या है. कई बार खिलाड़ियों को गलत तरह से भी फंसाया जाता है. एंटी-करप्शन ऑफिसर होने के बाद इस तरह की संभावनाएं कम हो जाएगी, और खेल ज्यादा पारदर्शी हो जाएगा.

16 जून को भिड़ेंगे भारत-पाकिस्तान

चिर प्रतिद्वंद्वी भारत और पाकिस्तान के बीच 16 जून को मैनचेस्टर में मुकाबला खेला जाएगा. आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी-2017 के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ शिकस्त झेलने के 2 साल बाद भारत के पास पाकिस्तान से बदला लेने का मौका होगा. साल 2015 की सेमीफाइनलिस्ट टीम इंडिया इस बार विराट कोहली ने अगुवाई में वर्ल्ड कप खेलेगी. भारत पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के साथ मैच नहीं खेलना चाहता है, ICC की सख्ती के बाद मजबूरन भारत को पाकिस्तान के साथ खेलना होगा, नहीं खेलने की दशा में पाकिस्तान को अंक दे दिए जाएंगे.

टीम इंडिया के वर्ल्डकप में इन टीमों से होंगे मुकाबले

5 जून : दक्षिण अफ्रीका (साउथेम्प्टन)
9 जून : ऑस्ट्रेलिया ( ओवल )
13 जून : न्यूजीलैंड ( नॉटिंघम )
16 जून : पाकिस्तान (मैनचेस्टर)
22 जून : अफगानिस्तान (साउथेम्प्टन)
27 जून : वेस्टइंडीज (मैनचेस्टर)
30 जून : इंग्लैंड (बर्मिंघम)
दो जुलाई : बांग्लादेश (बर्मिंघम)
छह जुलाई : श्रीलंका (लीड्स)
नौ जुलाई : पहला सेमीफाइनल (मैनचेस्टर)
11 जुलाई : दूसरा सेमीफाइनल (बर्मिंघम)
14 जुलाई : फाइनल (लॉर्ड्स)

वर्ल्ड कप का पूरा शेड्यूल ये है