मतदान से पहले आप को लगा झटका, पैसे लेकर टिकट देने का लगा आरोप

12 मई रविवार को छठे चरण में दिल्ली की सातों सीटों (नई दिल्ली, पूर्वी दिल्ली, पश्चिमी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, उत्तर पूर्वी दिल्ली, उत्तर पश्चिमी दिल्ली और चांदनी चौक) पर मतदान होना है. इस बीच मतदान से एक दिन पहले शनिवार को पश्चिमी दिल्ली लोकसभा सीट  (West Delhi lok Sabha Seat) से आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party)  उम्मीदवार बलबीर सिंह जाखड़ के बेटे उदय जाखड़ ने सनसनीखेज खुलासा किया है. उम्मीदवार के बेटे ने आम आदमी पार्टी पर टिकट बेचने का गंभीर आरोप लगाया है. वहीं बलबीर सिंह जाखड़ ने इन आरोपों से इनकार किया है. राजनीति चीज ही ऐसी है. यहाँ पर एक पिता पर उनका अपना बेटा आरोप लगाता है और फिर पिता को अपने ही बेटे को गलत बताना होता है. वैसे अखिलेश यादव पर भी बहुत आरोप लगे थे की उन्होंने ही नेता जी मुलायम सिंह यादव को किनारे किया.

केजरीवाल को टिकट के लिए दिए 6 करोड़ और मुझे पढाई तक करने के पैसे नहीं दिए !

उदय जाखड़ ने एक समाचार एजेंसी को बताया की उनके पिता के पास मुझे पढाई के लिए देने लायक पैसे नहीं है, परन्तु आम आदमी पार्टी को 6 करोड़ रुपये देकर टिकट लेने के लिए भरपूर पैसा है. उदय ने बताया की उनके पिता 3 महीने पहले ही आप में गए थे. पार्टी ने उन्हें इतनी जल्दी लोकसभा टिकट दे दिया क्योंकि उनके पिता जी ने अरविन्द केजरीवाल से टिकट खरीद लिया, और उदय ने कहा की इसके मेरे पुख्ता सबूत भी हैं.  हालाकि अभी तक उनकी तरफ से किसी तरह का कोई सबूत पेश नहीं किया गया है. हो सकता है की ये आरोप सच हो, परन्तु ये भी हो सकता है की पारिवारिक कलह बलबीर सिंह जाखड का राजनीतिक करियर ख़त्म कर रही हो.

बीलबीर सिंह जाखड़ ने बेटे के आरोपों को बताया गलत

बलबीर सिंह जाखड़ ने बेटे द्वारा लगाए गए इन आरोपों को गलत बताया है और कहा की ये किसी की साजिश है. पार्टी मुख्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता में बलबीर सिंह जाखड़ ने अपने बेटे उदय के आरोपों पर कहा कि बेटा जब से पैदा हुआ है अपने नाना नानी के पास है, मेरे पास नही रहा. मेरे बेटे का जन्म 2001 में हुआ था। 2009 में पत्नी से तलाक हो चुका है. 6 करोड़ के आरोप को उन्होंने सिरे से गलत बताया. उदय के 1984 के दंगों के आरोपी सज्जन कुमार को लेकर उन्होंने कहा कि सज्जन कुमार से कोई बात नही हुई कभी नहीं मिला. सज्जन कुमार कहते तो भी उनके लिए कोर्ट नहीं जाते.

 

होगा दिल्ली और हरियाणा में पार्टी को नुकसान

अंतिम बॉल पर मारा गया शॉट हम हमेशा नुकसान करता है, क्योंकि फिर आप उसका जवाब नहीं दे पाते हो. अभी आम आदमी पार्टी भी ऐसे ही चक्रव्यू में फंस गयी है. चुनाव से ठीक एक दिन पहले ऐसे संगीन आरोप का जवाब देना और जनता को संतुष्ट करना थोडा मुश्किल है. इसका असर दिल्ली में बस बलबीर सिंह जाखड की सीट पर ही नहीं पड़ेगा, बल्कि इसका असर अन्य दिल्ली की 6 सीट और एनसीआर की सोनीपत, गुड़गांव, फरीदाबाद की सीट पर भी पड़ेगा. इन सभी सीटों पर एक ही दिन 12 मई को मतदान है. इस आरोप का कितना असर होगा वो तो 23 मई को पता चलेगा, परन्तु ये तय है की कुछ असर तो पक्का होगा. और अगर ये आरोप साबित हो गए तो आगामी विधानसभा में भी पार्टी की दिक्कतें बढ़ जाएंगी.