प्रधानमंत्री ने मन की बात में पर्यावरण और स्वच्छता पर की बात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार (25 अगस्त) को अपने रेडियो प्रोग्राम ‘मन की बात’ के जरिए देश को संबोधित किया. कार्यक्रम के दौरान पीएम मोदी ने कई अहम विषयों पर बात की. उन्होंने भगवान श्री कृष्ण और राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को याद किया. साथ ही स्वच्छता अभियान, फिट इंडिया समेत कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. उन्होंने कहा, पिछले दिनों हम लोगों ने कई त्योहार मनाए. शनिवार को देश में श्री कृष्ण जन्म-महोत्सव मनाया गया. मित्रता कैसी हो तो सुदामा वाली घटना कौन भूल सकता है और युद्ध भूमि में इतनी सारी महानताओं के बावजूद भी उन्होंने सारथी का भार स्वीकारा. मन की बात में पीएम ने कहा, आज भारत एक और बड़े उत्सव की तैयारी में जुटा है और वह है महात्मा गांधी की 150वीं जयंती. फिर प्रधानमंत्री ने प्रकति और वन्यजीवों पर बात कही.

प्लास्टिक के खिलाफ नया जन-आंदोलन

पीएम मोदी ने कहा, इस बार 2 अक्टूबर को जब बापू की 150वीं जयंती मनाई जाएगी तो इस मौके पर हम उन्हें न केवल खुले में शौच से मुक्त भारत समर्पित करेंगे बल्कि उस दिन पूरे देश में प्लास्टिक के खिलाफ एक नए जन-आंदोलन की नींव रखेंगे. मोदी ने कहा, आज जागरूकता के आभाव में कुपोषण से गरीब व संपन्न दोनों ही तरह के परिवार प्रभावित हैं. पूरे देश में सितंबर महीना ‘पोषण अभियान’ के रूप में मनाया जाएगा. उसके बाद प्रधानमंत्री ने कहा की वनों को बचाना सबसे ज़रूरी है, क्यूंकि पर्यावरण सबसे महत्वपूर्ण है हमारे लिए. प्लास्टिक का इस्तेमाल ख़त्म करके हम इस और एक बड़ा कदम बढ़ा सकते हैं.

पीएम मोदी बोले- शुरू करेंगे फिट इंडिया मूवमेंट

पीएम ने कहा, यह न्यू इंडिया है. हम लक्ष्यों को जल्दी से जल्द पूरा करते हैं.  हमने 2019 में ही अपने यहां टाइगर की संख्या दोगुनी कर दी है. भारत में बाघों की संख्या ही नहीं बल्कि संरक्षित इलाकों और कम्युनिटी रिजर्व की संख्या भी बढ़ी हैं. भारत में बाघों की आबादी 2967 है. उन्होंने कहा,  29 अगस्त को ‘राष्ट्र खेल दिवस’ के रूप में मनाया जाता है. इस अवसर पर हम देश भर में ‘फिट इंडिया मूवमेंट’ शुरू करने वाले हैं.

मैन वर्सेस वाइल्ड का जिक्र

मन की बात के दौरान पीएम मोदी ने मैन वर्सेस वाइल्ड का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा, भारत का संदेश, उसकी परंपरा, संस्कार यात्रा में प्रकृति के प्रति संवेदनशीलता, इन सारी बातों से विश्व को रूबरू कराने में ये एपिसोड बहुत मदद करेगा, ऐसा मेरा पक्का विश्वास बन गया है.पीएम ने कहा, कई लोग जानना चाहते हैं कि बेयर ग्रिल्स ने मेरी हिंदी कैसे समझी. लोग पूछते हैं कि क्या इसे एडिट किया गया या कई बार शूट किया गया. बेयर ग्रिल्स और मेरे बीच टेक्नोलॉजी ने पुल का काम किया. उनके कान के पास एक कॉर्डलेस डिवाइस लगा था. मैं जो हिंदी में बोल रहा था, वह अंग्रेजी में ट्रांसलेट होकर उन्हें सुनाई दे रहा था.