जगनमोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू नायडू के आलीशान बंगले को तोड़ने के दिये आदेश

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने ‘प्रजा वेदिका’ बिल्डिंग को तोड़ने का आदेश दिया है। मंगलवार से बिल्डिंग तोड़ने का काम शुरू हो जाएगा।  फिलहाल, ‘प्रजा वेदिका’ में ही चंद्रबाबू नायडू रह रहे हैं। आलीशान इमारत को तोड़ने का काम मंगलवार को शुरू होगा।  बीते दिनों चंद्रबाबू नायडू ने जगनमोहन रेड्डी को चिट्ठी लिखकर ‘प्रजा वेदिका’ को नेता प्रतिपक्ष का सरकारी आवास घोषित करने की मांग की थी।

प्रजा वेदिका का निर्माण सरकार ने आंध्र प्रदेश राजधानी क्षेत्र विकास प्राधिकरण (एपीसीआरडीए) के जरिए किया था। पांच करोड़ रुपये में निर्मित इस आवास का इस्तेमाल नायडू आधिकारिक उद्देश्यों के साथ ही पार्टी की बैठकों के लिए करते थे।

नायडू ने इस महीने के शुरू में मुख्यमंत्री वाई.एस. जगन मोहन रेड्डी को पत्र लिखकर इस ढांचे का उपयोग बैठकों के लिए करने देने की इजाजत मांगी थी। उन्होंने सरकार से आग्रह किया था कि वह इसे नेता प्रतिपक्ष का आवास घोषित कर दे।

नायडू ने पत्र में कहा कि जैसा कि आप अवगत हैं, मुझे विपक्ष के नेता के तौर पर जिम्मेदारियों का निर्वाह करने के लिए तेलुगू देशम पार्टी के विधायक दल का नेता चुना गया है। नायडू ने अनुरोध किया कि ‘प्रजा वेदिका’ को विपक्ष के नेता के आवास का उपभवन (एनेक्सी) घोषित किया जाए ताकि ‘मैं विधायकों, आगंतुकों, आम लोगों से मिल सकूं तथा अपने कर्तव्यों का निर्वाह कर सकूं।’